राशि के अनुसार जानें आदित्य हृदय स्तोत्र के पाठ से क्या मिलता है लाभ

आदित्य हृदय स्तोत्र का वर्णन वाल्मीकि रामायण में किया गया है। यह स्तोत्र अगस्त्य ऋषि ने भगवान राम को युद्ध में रावण पर विजय प्राप्त करने के लिए युध प्रस्थान के समय दिया था। ऐसा माना जाता है कि इस स्तोत्र का रोज पाठ करने से जीवन के सभी कष्टों का निवारण होता है। इसके नियमित पाठ से शत्रु-भय निवारण और असफलताओं पर विजय प्राप्त होती है। साथ ही जिन लोगों की कुंडली में सूर्य कमजोर होता है उनके लिए आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ सबसे उत्तम माना गया है।आइए जानते हैं राशि के अनुसार किस राशि के जातकों को कौन सा लाभ मिलता है।

मेष- संतान प्राप्ति का लाभ मिलता है।

वृषभ- स्वास्थ्य की समस्याओं में सुधार होता है।

मिथुन- भाई-बहनों से अच्छे संबंध रहते हैं।

कर्क- धन-लाभ

सिंह- हर प्रकार के लाभ प्राप्त होते हैं और सभी मनोकामनाएं पूरी होती है।

कन्या- विदेश यात्रा, अच्छा वैवाहिक जीवन की प्राप्ति होती है।

तुला-शत्रुओं पर विजय की प्राप्ति होती है।

वृश्चिक- अच्छे करियर और अच्छी शिक्षा प्राप्ति का वरदान प्राप्त होता है।

धनु- विदेश यात्रा, पिता का सहयोग और ईश्वर की कृपा मिलती है।

मकर- लंबी आयु, अच्छा स्वास्थ्य और अचानक लाभ होता है।

कुंभ- वैवाहिक जीवन सुखद, अच्छा व्यवसाय और आर्थिक लाभ होता है।

मीन- नौकरी में सफलता, मुकदमों से छुटकारा और कर्ज से मुक्ति मिलती है।

Categories : Forcasts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *